स्टेडव्यू से मिले $74 मिलियन निवेश के साथ, Ola बना दूसरा सर्वाधिक मूल्यवान भारतीय स्टार्टअप

भारत में विकसित हुई कैब सेवा प्रदाता कंपनी, ओला (Ola) ने मौजूदा निवेशक स्टेडव्यू कैपिटल (Steadview Capital) के नेतृत्व में एक नए निवेश दौर में $73.97 मिलियन जुटाए हैं।

अक्टूबर में, मीडिया रिपोर्टों ने यह बताया था कि ओला (Ola), हॉन्गकांग स्थित हेज फंड के साथ $100 मिलियन के सौदे को अंतिम रूप दे रहा था, जबकि ऐसी उम्मीद थी की फ्लिपकार्ट (Flipkart) के संस्थापक सचिन बंसल भी इस सौदे में भाग ले सकते हैं।

हालाँकि, कंपनी की नवीनतम नियामक फाइलिंग, बुधवार को संपन्न हुए नवीनतम निवेश दौर में बंसल की भागीदारी की पुष्टि नहीं करती है।

TechCircle की रिपोर्ट के अनुसार, स्टेडव्यू द्वारा किए गए इस निवेश के चलते सॉफ्टबैंक (SoftBank) समर्थित कंपनी का मूल्यांकन, $5.7 बिलियन तक पहुंच गया है। स्टेडव्यू, बेंगलुरु स्थित फर्म में $400 मिलियन सीरीज़ ई राउंड के निवेश के चार साल के बाद आया है।

महत्वपूर्ण रूप से, ओला ने इस दौर में ओयो (OYO) के मूल्यांकन ($5 बिलियन) को पीछे छोड़ दिया। इसी के साथ ओला, डिजिटल भुगतान प्रमुख, पेटीएम (Paytm) के बाद भारत का दूसरा सबसे मूल्यवान स्टार्टअप बन गया है।

यह विकास, ओला में निवेश करने की सॉफ्टबैंक की तीव्र इच्छा के बाद आया है, जबकि कंपनी के संस्थापक भाविश अग्रवाल इस दौर में अन्य निवेशकों को शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं, जिससे मासायोशी सोन के नेतृत्व वाले निवेश प्रमुख के ओला में बढ़ते हित (stake) को सीमित किया जा सके।

उद्योग के विशेषज्ञों का कहना है कि अग्रवाल द्वारा सॉफ्टबैंक के हित को सीमित करने का निर्णय, कंपनी में सह-संस्थापक के मतदान के अधिकारों की सुरक्षा करने के लिए है। दूसरी ओर, मैकरिची (MacRitchie) के साथ-साथ ओला संस्थापकों को, जिन्होंने मूल इकाई एएनआई टेक्नोलॉजीज (ANI Technologies) में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) से मंजूरी मांगी थी, आयोग से इस बाबत स्वीकृति मिल गयी है।

ओला के लिए, वर्ष 2019 की शुरुआत अच्छे नोट पर हुई है। इस महीने की शुरुआत में, इसने कहा था कि यह चीनी स्कूटर बनाने वाली कंपनी, इटरनल यील्ड इंटरनेशनल (Eternal Yield International) से 14 करोड़ रुपये से अधिक हासिल करने के लिए, 9,684 वरीयता शेयर जारी करेगा।

हाल के दौर में, ओला दवा वितरण क्षेत्र में प्रवेश करना चाह रहा है, और यह कथित तौर पर एक संभावित अधिग्रहण के लिए मायरा मेडिसिन (Mayra Medicine) के साथ बातचीत कर रहा था। फर्म ने स्कूटर-शेयरिंग मंच वोगो (Vogo) में निवेश के माध्यम से स्कूटर किराये के क्षेत्र में पहले ही प्रवेश कर लिया था और दवा वितरण के लिए ओला इसका लाभ उठा सकता है।

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here