अलीबाबा ने विक्रेताओं को दी चेतावनी; टैक्स चोरी अथवा किसी प्रकार के उल्लंघन पर बंद हो सकता है भारत में स्टोर

चीनी ऑनलाइन खुदरा विक्रेताओं द्वारा उपहारों की आड़ में भारत को भेजे जा रहे उत्पादों पर भारत सरकार के कड़े कदम के ठीक बाद, अलीबाबा (Alibaba) ने विक्रेताओं को किसी भी प्रकार की गैरकानूनी गतिविधियों, जैसे कि वस्तुओं पर झूठे विवरणों के माध्यम से टैक्स से बचने का अभ्यास करने के खिलाफ चेतावनी दी है। अलीबाबा ने कहा कि ऐसा करने के कारण विक्रेताओं का स्टोर बंद भी किया जा सकता है।

अलीबाबा के स्वामित्व वाले ऑनलाइन रिटेलर अलीएक्सप्रेस (AliExpress) ने कहा कि यह स्थानीय नियमों और कानूनों का सम्मान करता है और यह अपने मंच पर विक्रेताओं द्वारा अंजाम दी जाने वाली किसी भी अवैध गतिविधियों का समर्थन नहीं करता है। फर्म, उस दशा में अपने विक्रेताओं को दंडित करता है यदि उनकी वस्तुओं में करों से बचने के लिए गलत विवरण पेश किए जाते हैं।

टीओआई की रिपोर्ट में फर्म के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है कि उल्लंघन करने वाले विक्रेता पर लगाई जाने वाली पेनाल्टी में स्टोर का बंद किया जाना शामिल है।

फर्म ने मंच पर समझौतों के माध्यम से अपने विक्रेताओं को अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी थी।

इससे पहले, भारतीय सरकार ने चीनी ई-कॉमर्स मंचों से भारत में उपहार के रूप में माल के लदान पर शिकंजा कसा था।

ड्यूटी और करों का भुगतान नहीं करने से वस्तुओं की कीमतों में उल्लेखनीय कमी आती है। वर्तमान में, व्यक्तिगत उपयोग के लिए 5,000 रुपये तक के उपहारों को सीमा शुल्क से छूट दी गई है। इससे ड्यूटी और करों के संग्रह में भी काफी गिरावट आई है।

यह कदम घरेलू कानून के उल्लंघन और चीन द्वारा उपहार के रूप में आने वाले उत्पादों की संख्या में वृद्धि के बाद आया है। कई छोटे व्यापारियों और घरेलू ई-टेलर्स ने चीन के ई-टेलर्स के खिलाफ शिकायत की थी। इनमे क्लब फैक्ट्री (Club Factory), शीन (Shein) और अलीएक्सप्रेस (AliExpress) का नाम शामिल था, जो मौजूदा समय में सीमा शुल्क से छूट का लाभ ले रहे हैं।

इन मंचों पर मौजूद उत्पाद, भारतीय ई-कॉम साइटों की तुलना में 50 प्रतिशत से अधिक सस्ते हैं।

पिछले दिसंबर में, मुंबई सीमा शुल्क विभाग ने उपहारों की आड़ में माल की कई खेपों पर गौर किया था। ज्यादातर मामलों में दिया गया पता भी काल्पनिक था।

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here