India Property के साथ, Quikr ने रियल एस्टेट क्षेत्र में किया सातवां अधिग्रहण

अपनी अधिग्रहण की रणनीति को ज़ारी रखते हुए, क्विकर ( Quikr) ने वर्ष 2018 की अपना पहला अधिग्रहण कर लिया है। कंपनी ने चेन्नई स्थित पूर्णतया ऑनलाइन टू ऑफलाइन रियल एस्टेट मंच, इंडिया प्रॉपर्टी को एक अघोषित राशि में अधिग्रहित कर लिया है।

चेन्नई स्थित यह कंपनी, 15 विभिन्न शहरों में संपत्तियों की लिस्टिंग, खरीदने, बेचने व किराए पर देने का कार्य करती है। इसका दावा है कि इसके पास अपने मंच पर6 लाख संपत्तियां और 8000 से अधिक सत्यापित बिल्डर प्रोजेक्ट हैं।

चूंकि, विक्तिय वर्ष 2018 में क्विकर के राजस्व में 35 प्रतिशत का योगदान रियल एस्टेट क्षेत्र का है, यह अधिग्रहण, इस क्षेत्र के आंकड़ों में हेरफेर कर सकता है। इस अधिग्रहण के साथ ही, कंपनी का दावा, रियल एस्टेट के क्षेत्र में सबसे बड़ा लेन देन संबंधी मंच होने की है।

इंडिया प्रॉपर्टी, क्विकर का रियल एस्टेट क्षेत्र में सातवां अधिग्रहण है। इससे पहले इसने कॉमन फ्लोर, इंडियन रियल्टी एक्सचेंज ( IRX) , रियल्टी कंपास ( Realty Compass, एचडीएफसी रियल्टी, HDFC Re व Kalaari समर्थित GrabHouse का अधिग्रहण किया है।

दक्षिणी राज्यों में इंडिया प्रोपर्टी का मजबूत आधार और उसका फुल स्टैक मॉडल हमें हमारे भुगतान व्यापार को बढ़ाने में सहायक होने के साथ साथ हमारे वर्गीकृत आधार को भी बढ़ाएगा, Quikkr के संस्थापक व सीईओ प्रणय चुलेट ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया।

अभी तक Quikr के पोर्टफोलियो में 14 अधिग्रहण हैं जिसमें ऊपर उल्लेखित कंपनियों के अलावा ज़िंम्बर ( Zimmber) माय वॉश (MyWash) और डोर मिंट ( Doormint) शामिल हैं।

विक्तिय वर्ष 2018 में कंपनी के संयुक्त संचालित राजस्व में 95.6 प्रतिशत का उछाल देखते हुए यह 173.49 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। यह पिछले विक्तिय वर्ष में 88.67 करोड़ रुपए था। साथ ही, क्विकर को हुए नुकसान में 23 प्रतिशत की गिरावट के साथ यह विक्तिय वर्ष 2017 में 305 करोड़ रुपए दर्ज़ किया गया जो पिछले विक्तिय वर्ष में 233 करोड़ रुपए था।

गौरतलब है कि मूल भुगतान ने FY18 में हुए 98.25 करोड़ के राजस्व के 56.63 प्रतिशत हिस्से का योगदान दिया।

हाल ही में Quikr ने Innoven Capital से वेंचर ऋण में 55 करोड़ रुपए प्राप्त किए थे। अभी तक क्विकर ने Kinnevik, मैट्रिक्स पार्टनर्स, Warburg Pincus और eBay Inc समेत अन्य कई से 2,400 करोड़ रुपए से अधिक प्राप्त किए है।

फिलहाल, कंपनी अपने वर्तमान निवेशकों के साथ साथ नए निवेशकों से $150 मिलियन तक का निवेश प्राप्त करने के लिए बातचीत कर रही है। भविष्य में यह देखना होगा कि यह नए निवेशकों को इस अति आवश्यक निवेश राउंड के लिए कैसे विश्वास दिलाती है।

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here