Paytm और Mobikwik के बाद, PhonePe ने रखा कदम धन प्रबंधन क्षेत्र में

यूपीआई संचालित भुगतान सेवा की सफलता के बाद, सभी प्रमुख डिजिटल भुगतान खिलाड़ी, विकास के अगले सेट पर नजर रखते हुए अपने ग्राहकों को कई नए उत्पादों से जोड़ रहे हैं और धन प्रबंधन, निश्चित रूप से उनमें से एक है।

पेटीएम (Paytm) और मोबिक्विक (Mobikwik) के बाद, अब फ्लिपकार्ट (Flipkart) के स्वामित्व वाले फोनपे (PhonePe) ने धन प्रबंधन सेवा में प्रवेश किया है। टेक सर्कल ने रिपोर्ट किया कि, कंपनी द्वारा दाखिल की गयी पहली आरओसी फाइलिंग के मुताबिक, फोनपे वेल्थ सर्विसेज नामक नई इकाई को 15 नवंबर को इनकॉरपोरेट किया गया।

इस धन प्रबंधन शाखा को 50 करोड़ रुपये की अधिकृत पूंजी (authorised capital ) और 20 करोड़ रुपये की पूंजीगत पूंजी (paid up capital) के साथ स्थापित किया गया है। इसके अलावा, फाइलिंग में कहा गया है कि म्यूचुअल फंड के प्रमुख टेरेंस लुसीन और फोनपे में इंजीनियरिंग के प्रमुख, अनिरुद्ध पटवर्धन को फोनपे वेल्थ सर्विसेज के निदेशक मंडल में शामिल किया गया है।

फोनपे ने अभी तक खुलासा नहीं किया है कि उसकी इस नयी शाखा का नेतृत्व कौन करेगा।

ऐसी उम्मीद है कि यह फर्म, म्यूचुअल फंड, तत्काल ऋण, सोना जमा, लिक्विड निधि, और पेंशन योजना जैसी अन्य सेवाओं के साथ व्यय प्रबंधन सुविधाओं का एक सूट पेश करेगा।

यह शायद फोनपे के लिए एक अच्छा समय है क्योंकि इसके पास 100 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ता आधार है। समीर निगम की अगुआई वाली कंपनी ने हाल ही में अपनी स्थापना के बाद से 1 बिलियन लेनदेन संख्या को हासिल किया है। एनट्रैकर के स्रोतों के अनुसार, फोनपे वर्तमान में 4 मिलियन से अधिक लेनदेन को संसाधित करता है।

फोनपे एक अलग एप भी पेश कर सकता है या अपने मौजूदा एप में धन प्रबंधन सुविधा को एकीकृत कर सकता है। हालांकि, इसकी पुष्टि का हमे इंतज़ार है। सितंबर में, पेटीएम ने अपने समर्पित म्यूचुअल फंड एप ‘पेटम मनी’ (Paytm Money) को लॉन्च किया, जबकि मोबिक्विक ने क्लियरफंड्स (Clearfunds) के अधिग्रहण के साथ एक महीने बाद इस क्षेत्र में प्रवेश किया।

इसके अलावा, ईटी मनी (ETMoney), ज़ीरोधा (Zerodha), कुवेरा (Kuvera) भी धन प्रबंधन क्षेत्र में कार्यशील हैं।

इस साल की शुरुआत में, सत्यन कोठारी ने व्यापक धन-प्रबंधन एप, क्यूब (Cube) के साथ वापसी की। आईबीबो (ibibo) समूह के नेतृत्व करने वाले आशीष कश्यप ने भी एक पूर्ण स्टैक धन प्रबंधन एप इंडवेल्थ (IndWealth) लॉन्च किया था।

फ्रीचार्ज (Freecharge) संस्थापक, कुणाल शाह ने हाल ही में क्रेड (Cred) के साथ अपना दूसरे प्रोजेक्ट का अनावरण किया जो अनिवार्य रूप से शीर्ष-स्तरीय प्रोफेशनल को क्रेडिट कार्ड भुगतान का प्रबंधन करने और रिवॉर्ड पॉइंट अर्जित करने में सक्षम बनाता है।

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here