होटल एसोसिएशन, मेकमायट्रिप के साझेदारों के साथ किए गए व्यावसायिक अनुबंधों को निर्धारित नहीं कर सकता: दीप कालरा

मेकमायट्रिप (MakeMyTrip) और कई होटल एसोसिएशनों के बीच चल रहे विवाद और असहमति पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, कंपनी समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, दीप कालरा ने कहा है कि एफएचआरएआई ( FHRAI) सहित कोई भी एसोसिएशन, हमारे साझेदार होटलों के साथ एमएमटी के वाणिज्यिक समझौतों को निर्धारित नहीं कर सकता है।

कालरा के अनुसार, समूह अपने सहयोगी होटलों के साथ सीधे तौर पर व्यवहार करता है और प्रत्येक इकाई के साथ व्यक्तिगत अनुबंध करता है। समूह ने एफएचआरएआई के साथ इस मुद्दे को सुलझाने की पहल की थी , हालांकि, कालरा ने स्पष्ट किया कि एफएचआरएआई द्वारा समर्थित इस विरोध का कोई मतलब नहीं है।

इसके अतिरिक्त, मेकमायट्रिप के अधिकारियों ने क्षेत्रीय संघों, जैसे कि होटल और रेस्तरां एसोसिएशन ऑफ गुजरात, एवं क्षेत्र के अन्य होटल मालिकों से मुलाकात की थी और इस मुद्दे को हल करने का दावा किया था।

यह विकास, FHRAI द्वारा MakeMYTrip और गोआईबीबो (Goibibo) को नोटिस भेजे जाने के बाद हुआ है। FHRAI द्वारा उक्त दोनों कंपनियों पर शोषणकारी, अनैतिक और विभाजनकारी व्यापार प्रथाओं का आरोप लगाया गया था, और दावा किया गया था कि इसके चलते प्रीडेट्री मूल्य निर्धारण की घटनाएं सामने आ रही हैं।

एसोसिएशन का यह भी दावा है कि ये ओटीए मंच, अपने सहयोगी होटल की सहमति के बिना ग्राहकों को भारी छूट देते हैं।

इसके अलावा, एफएचआरएआई भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग और पर्यटन मंत्रालय से मिलने की योजना बना रहा है। FHRAI के अंतर्गत सभी चार क्षेत्रीय संघ – उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम – भी इस देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे, अगर उनकी मांगें पूरी नहीं हुईं।

न केवल एमएमटी समूह, बल्कि सॉफ्टबैंक समर्थित ओयो (Oyo) को भी एसोसिएशन के विरोध का सामना करना पड़ा था। ओयो पर आरोप लगाया गया था कि यह मंच अवैध रूप से आवासीय अपार्टमेंट, वाणिज्यिक भवनों, बिना लाइसेंस वाले बिस्तर और ब्रेकफास्ट अपार्टमेंट, यहां तक ​​कि चॉल के कमरों को होटल का नाम देकर अपनी सेवाएं दे रहा है।

ओयो ने हालांकि ऐसे आरोपों से इनकार किया था।

यह विकास इकॉनोमिक टाइम्स द्वारा रिपोर्ट किया गया।

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here